Greater Glory Of God

प्रार्थना क्या है?

What is Prayer in Hindi

Listen to the Podcast

लगभग सभी प्रार्थना करते हैं | आप भी जरूर करते ही होंगे ! क्या कोई भी कभी भी आपसे यह पूछे हैं, “आप प्रार्थना करते हैं, तो हमें बताइये ‘प्रार्थना क्या है?'”

या आपके ही मन में यह सवाल उठा हो और आपको सही जवाब नहीं मिला हो, तो आप पूरे वीडियो को जरूर देखिये |

बहुत ही सरल शब्दों में ‘प्रार्थना’ को समझिये |

सरल शब्दों में, प्रार्थना ईश्वर के साथ एक संवाद है, ईश्वर के साथ बातचीत है |

संवाद में सुनना और बोलना दोनों होना चाहिए। बोलने से पहले सुनना जरुरी है। ईश्वर संवाद शुरू करते हैं।

“ईश्वर के साथ हमारे रिश्ते की रीढ़ और जीवन रेखा प्रार्थना है।”

प्रार्थना की प्रक्रिया:

  • ईश्वर के सामने उपस्थिति होना
  • ईश्वर के साथ संवाद
  • ईश्वर की सुनना
  • ईश्वर से बात करना

प्रार्थना वाईफ़ाई के पासवर्ड की तरह है जो उपलब्ध असीमित डेटा से जुड़ने के लिए आवश्यक है।

प्रार्थना वह तार भी है जो एक सीलिंग फैन को स्विच से जोड़ता है। कनेक्टिंग वायर के बिना, पंखे को काम करने के लिए उपलब्ध असीमित करंट नहीं मिल सकता है।

दोस्त और सबसे अच्छे दोस्त इस बात से तय होते हैं कि एक दूसरे के साथ कितना समय बिताते हैं। वार्तालाब किसी भी रिश्ते की रीढ़ है। अगर एक दूसरे के साथ संवाद करना बंद कर देता है, तो रिश्ते की स्वाभाविक मौत हो जाएगी। संचार 30% मौखिक और 70 गैर-मौखिक है।

इसी तरह, क्या आपका ईश्वर के साथ कोई रिश्ता है? क्या आप बिना प्रार्थना के ईश्वर के साथ संबंध बना सकते हैं? क्या आप प्रार्थना करते हैं? प्रार्थना क्या है?

प्रार्थना का सही अर्थ समझने पूरे वीडियो को देखिये |