Greater Glory Of God

Velankanni Mother Mary Novena in Hindi – DAY 06

Velankanni Mother Mary Novena in Hindi – DAY 06

स्वास्थ्य की माता वेलांकनी की नौरोजी प्रार्थना – छठवाँ दिन

विषय :- धन्य कुँवारी मरियम : निष्कलंका

प्रभु येसु हर मनुष्य के मुक्तिदाता हैं। हर व्यक्ति पापी है, यहाँ तक कि जो बच्चा माँ के गर्भ में है वह भी।

इसका कारण आदि-पाप है जिसमें हर मनुष्य भाग लेता है।

ईश्वर अपने पुत्र को जिस मरियम के माध्यम से इस धरती पर लाना चाहे उसको इस आदी-पाप से बचाकर रखे।

लेकिन क्यों?

फ्रांस देश के लूर्द में जब धन्य कुँवारी मरियम दर्शन दी, वे अपनी पहचान ऐसे दी – “मैं ही हूँ निष्कलंक गर्भागमन।

लेकिन क्यों? इनके और इनसे जुड़ी महत्वपूर्ण बातों को जानने, पूरे वीडियो देखिये।

इस विषय को अच्छे से समझने पूरे वीडियो को देखिये।

Immaculate Conception of the Blessed Virgin Mary Hindi by Fr. George Mary Claret | निष्कलंक गर्भागमन

  1. निष्कलंक गर्भागमन का अर्थ
  2. निष्कलंक गर्भागमन और गर्भधारण में अंतर
  3. इतिहास
  4. Dogma धर्मसिद्धांत
  5. आदि पाप और उसके फल
  6. आवश्यकता अनिवार्यता
  7. येसु मरियम के मुक्तिदाता
  8. परिरक्षण – आदि पाप से बचाई गयी
  9. मरियम का दर्शन
  10. निष्कलंक और निष्पाप

वेलांकन्नी में माता मरियम के दर्शनों का इतिहास :-

वेलांकन्नी में माता मरियम 16 वीं और 17 वीं सदियों में तीन बार दर्शन दीं। माता मरियम समय समय पर लोगों को दर्शन देकर ईश्वर की इच्छा प्रकट करतीं या लोगों की मदद करतीं।

भारत देश के तमिलनाडु में नागपट्टिनम जिले के वेलांकन्नी नामक जगह पर तीन बार दर्शन दीं।

प्रभु जिस माँ को क्रूस पर मरते समय हमारी माँ के रूप में दिए, वह माँ हमारा देख-रेख करती हैं।